-35%

Namak Ka Daroga | Premchand

5/5

13

In stock

2 reviews for Namak Ka Daroga | Premchand

  1. Naglash

    प्रेमचंद जी की एक और शानदार कहानी जिसमे नमक के निरीक्षण करने वाले के माध्यम से मानव के आदर्श मूल्यों को बताया गया है, कर्मपरायणता और ईमानदारी को इसमे काफी दुर्लभ गुण बताया गया है, नमक का दरोगा इस कहानी में कालाबाज़ारी के खिलाफ आवाज़ उठता है

  2. dinkar kishu

    Premchand ji dwara likhi gayi namak ka daroga ji ye book aaapko 20 rupess me mil jayega book me kalabazari ke kilaf aawaz uthaye hai overall book badhiya hai premchand ki kahani to badhiya hoti hi hai book ki quality bhi badhiya hai

Add a review

ARE YOU IN?

Send me Offers & Updates via SMS & Emails.