Sachin Tendulkar | Hindi

5/5

699

In stock

Additional information

Weight 475 g
Dimensions 21.5 × 14 × 3 cm
Pages

Paper

1 review for Sachin Tendulkar | Hindi

  1. Gireesh Dewangan

    शीर्षक- Playing It My Way
    सचिन तेंदुलकर, मेरी आत्मकथा
    लेखक- सचिन तेंदुलकर
    बोरिया मजुमदार
    प्रकाशन वर्ष – 2014
    ये कहना गलत नहीं होगा की हर भारतीय की नसों में क्रिकेट दौड़ता है और सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के भगवान हैं. जब ये किताब आई तो हमारे शहर की रथयात्रा में बंटने वाली गजामूंग की तरह आते ही ख़तम होती गई. सचिन की तरह उनकी किताब ने भी बिक्री में कई रिकॉर्ड तोड़ दिए. मुझे आश्चर्य नहीं है की ये समीक्षा लिखते समय भी ये किताब HBM पे OUT OF STOCK है.
    इस किताब में सचिन ने अपने बचपन से लेकर सन्यास लेने तक के समय का वर्णन किया है. वो छोटी-छोटी बातें और घटनाएं जिनमें से कई हम जानते हैं और कई को बिल्कुल भी नहीं जानते, सब कुछ इसमें विस्तार से बताया गया है. ये पढ़कर आपको पता चलेगा की एक सचिन बनाने के लिए कितने लोगों ने कितना संघर्ष किया, कितने बलिदान दिए और कितनी मेहनत की.
    ये किताब पढ़ते समय ऐसा लगता है जैसे सचिन खुद सामने बैठकर अपनी कहानी हमें सुना रहे हैं. और जब वो पुराने मैचों की बात करते हैं आँखों के सामने वो सारी यादें ताज़ा हो जाती हैं. मेरे पास इस किताब की अंग्रेजी कॉपी है, और मेरी बुकशेल्फ की वो मेरी सबसे पसंदीदा किताब है.
    किसी भी भारतीय या क्रिकेट प्रेमी की बुकशेल्फ इस किताब के बिना अधूरी है. सचिन के अलावा कुछ और क्रिकेटर्स की किताबें भी मेरे पास हैं पर युवराज सिंग की ‘द टेस्ट ऑफ़ माई लाइफ’ के अलावा और किसी की आत्मकथा इसके आसपास भी नहीं है. जैसे ही ये किताब स्टॉक में आये उसे तुरंत गुपच लो बाघा.

Add a review

ARE YOU IN?

Send me Offers & Updates via SMS & Emails.